blog

LEGAL BLOG

A blog can be utilized as a platform to showcase your knowledge and expertise. Blogs also help the reader gain a new perspective on various issues. They increase our awareness and innovation capability. A legal blog helps one remain up to date with the manifestations in law. Our extensive Legal blog comprises of a vast number of topics that you may need information on. And if you are blog writer and wish to publish your blog with us, kindly email us at info@lawzgrid.com

  • Filter By:
Offences under the Wildlife Protection Act, 1972

Offences under the Wildlife Protection Act, 1972

  • Criminal
  • Author:Suwaiba Malik
  • 09/05/2018
  •  0 Likes
  •  0 Comments
  •  Share

The Wildlife Protection Act was passed in 1972 under Article 252 of the Constitution of India. The Act aimed at providing a uniform framework for the Wildlife protection. The Act adopts a two-fold mechanism for the protection of the wildlife: Prohibiting hunting Creation of protected areas ...

Essentials of Adoption under Hindu Adoption and...

Essentials of Adoption under Hindu Adoption and Maintenance Act, 1956

  • Family
  • Author:Suwaiba Malik
  • 04/05/2018
  •  0 Likes
  •  0 Comments
  •  Share

Chapter II of the Hindu Adoption and Maintenance Act, 1956 lays detailed provisions regarding adoption of a child. Adoption in simple terminology refers to creating a relationship of a parent-child which does not exist naturally. In Hindus earlier adoption was regarded as taking a son in the fai...

Supreme Court on Live-in-Relationships

Supreme Court on Live-in-Relationships

  • Civil
  • Author:Suwaiba Malik
  • 02/05/2018
  •  1 Likes
  •  0 Comments
  •  Share

Live-in-relationships have been in the discussion for sometime and divergent opinions have been witnessed on the topic. The young generation is seen strongly supporting the concept of live-in-relationships. But not everyone is found to be in favor of this westernized modern concept. Indian is a ...

क्या आपको पता है

पैसों के लेन-देन की अगर बात करें तो आजकल के दौर में सबसे आम अगर कोई जुर्म है तो वो चेक का बाउंस हो जाना ही है. सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया के मुताबिक़ अदालत में 40 लाख चेक बाउंस के केस पेंडिंग हैं. चेक के बाउंस होने का सबसे बड़ा कारण है अकाउंट में फण्ड का ना होना. हालाँकि चेक बाउंस ना हो तो वो अच्छा ही...

साइबर क्राइम से लड़ने के लिए रखे इन बातों का ध्यान

आजकल के दौर में तकनीक हमारी ज़िन्दगी का अहम् हिस्सा बन गयी है. इन्टरनेट हमारी ज़िन्दगी में इस तरह से अहम् है कि अगर कुछ वक़्त के लिए इन्टरनेट ना आये तो बेचैनी सी आ जाती है. सोशल मीडिया के दौर में दोस्ती, दुश्मनी, प्यार सब कुछ कंप्यूटर और इन्टरनेट की मदद से ही हो रहा है. देखा जाए तो ज़िन्दगी आसान सी ह...

क्यूँ ज़रूरी है और कैसे बनता है रेंटल अग्रीमेंट?

रेंट अग्रीमेंट उस समझौते को कहते हैं जो एक किरायेदार और मकान मालिक के बीच होता है. इस अग्रीमेंट में सभी शर्तों का ज़िक्र कर दिया जाता है कि आगे किसी तरह का कोई विवाद ना पैदा हो. ये अग्रीमेंट एक महत्वपूर्ण सबूत होता है और इससे किरायेदार को ये सुरक्षा रहती है कि मकान मालिक समयावधि से पहले उसे जगह ख़ा...

भारत में प्रॉपर्टी ख़रीदने से पहले ज़रूरी हैं ये ...

अपने घर का होना सभी के लिए एक सपने जैसा होता है और जब हम अपना आशियाना ख़रीदने के लिए सोच रहे होते हैं तो उत्साह तो होता ही है, कई सारे सवाल भी हमारे आस-पास होते हैं. कुछ सवाल तो ऐसे होते हैं कि जिस एरिया में हम मकान ले रहे हैं वो ठीक है, ठीक नहीं है.. इस तरह के जबकि कुछ ऐसे भी सवाल होते हैं जो इसक...

 ट्रैफिक पुलिस अगर आपको रोके तो आपके पास होंगे ...

ट्रैफिक पुलिस ने लगभग सभी को कभी ना कभी ज़रूर रोका होगा और कई बार ये बहुत परेशान भी करता है. यदि ट्रैफिक पुलिस आपको रोके तो आपको परेशान होने की ज़रुरत नहीं है. ट्रैफिक पुलिस द्वारा रोके जाने पर ज़रूरी अधिकार ये हैं-ट्रैफिक पुलिस को किसी भी तरह का जुर्माना आप पर लगाने के लिए ज़रूरी है कि चालान किताब य...

LawzGrid-solutions-icon